कोटा के ट्रिपलआईटी भवन निर्माण से पूर्व इसे राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा के परिसर में संचालित किया जाना प्रस्तावित

ram

– तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री
जयपुर। तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने सोमवार को विधानसभा में कहा कि ट्रिपलआईटी की कक्षाएं मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जयपुर के परिसर में संचालित हो रही हैं। उन्होंने कहा कि ट्रिपलआईटी का भवन बनने से पूर्व इसे राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा के परिसर में स्थित पेट्रोलियम इंजीनियरिंग विभाग के नवनिर्मित भवन में संचालित किया जाना प्रस्तावित है। मानव संसाधन विकास मंत्रलय, भारत सरकार द्वारा गठित समिति की विजिट के बाद इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

डॉ. गर्ग सदन में प्रश्नकाल के दौरान विधायकों की ओर से इस संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने बताया कि ट्रिपलआईटी में पहला सत्र 2013-14 में शुरू हुआ था, जो मई 2017 में पासआउट हो चुका है।इससे पहले विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल के मूल प्रश्न के जवाब में तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि ट्रिपलआईटी की कक्षाएं माह जुलाई, 2013 से लगना प्रारम्भ हईं। वर्तमान में इसकी कक्षाएं मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जयपुर के परिसर में संचालित हो रही हैं। ट्रिपलआईटी में कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग एवं इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग कोर्स संचालित किये जा रहे हैं। अब तक उक्त संस्थान से कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग के 52 विद्यार्थी उत्तीर्ण हो चुके हैं एवं वर्तमान में 430 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। उन्होंने विवरण सदन के पटल पर रखा।

डॉ. गर्ग ने कहा कि ट्रिपलआईटी की घोषणा के बाद इसके भवन निर्माण के लिए 100.37 एकड़ भूमि ग्राम रानपुर, जिला कोटा (झालावाड हाइवे) पर आवंटित की गई। उन्होंने इसका विवरण सदन की मेज पर रखा। उन्होंने कहा कि ट्रिपलआईटी कोटा के लिए भूमि आवंटन उपरान्त आवंटित भूमि पर सी.पी.डब्ल्यू.डी. द्वारा बाउण्ड्री वॉल एवं साइकिल ट्रेक का निर्माण कार्य किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि भवन निर्माण हेतु केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं इंडस्ट्री पार्टनर द्वारा राशि 50ः35ः15 के अनुपात में वहन की जानी है। भवन निर्माण हेतु राज्य सरकार द्वारा वर्तमान वित्तीय वर्ष में 6.11 करोड़ रुपए का प्रावधान किया जाकर राशि निदेशालय तकनीकी शिक्षा निदेशालय, जोधपुर के पी.डी. खाते में हस्तान्तरित की जा चुकी है। भारत सरकार द्वारा भी अपनी हिस्से की राशि 8.595 करोड़ रुपए एवं इंडस्ट्री पार्टनर द्वारा राशि 12.80 करोड़ रुपए उपलब्ध करवाई जा चुकी है। भवन निर्माण सी.पी.डब्ल्यू.डी. द्वारा किया जाना है जिसके लिए आगामी कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि ट्रिपलआईटी का भवन बनने से पूर्व ही इसे राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा के परिसर में स्थित पेट्रोलियम इंजीनियरिंग विभाग के नवनिर्मित भवन में संचालित किया जाने हेतु राज्य सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित स्थान पर संचालित किये जाने के संबंध में मानव संसाधन विकास मंत्रलय भारत सरकार द्वारा गठित समिति द्वारा की विजिट की जानी अपेक्षित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *