खाद्य वस्तुओं के लिए सैम्पल लेकर रेस्टोरेंट में साफ-सफाई रखने व

ram

-काम कर रहे लोगों के स्वास्थ्य की जांच करवाने के दिये निर्देश
भीलवाडा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. जे.सी. जीनगर के निर्देशानुसार जिलेवासियांे की सेहत सुधारने के उद्देश्य से खाद्य वस्तुओं के निर्माण में साफ-सफाई का ध्यान रख शुद्वता बरतने, मिलावटी खाद्य वस्तुओं की बिक्री रोकने, सब्जियों में कृत्रिम रंग डालने पर अंकुश लगाने तथा इस तरह के खाद्य पदार्थ बेचने वालों के खिलाफ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से निरीक्षण कर खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम, 2006 के तहत कार्यवाही की गई।


खाद्य सुरक्षा अधिकारी आनन्द चैधरी ने बताया कि विभाग की ओर खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम, 2006 की पालना सुनिश्चित करने के उद्देश्य से मंगलवार को जिले में जे.के. चलता-फिरता रेस्टोरेंट, नागौरी गार्डन में सब्जियों में प्रतिबंधित कृत्रिम रंग डालते हुए रंगे हाथों पकड खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनिमय के तहत कार्यवाही की गई। इस दौरान चिकित्सा विभाग की टीम ने रेस्टोरेंट से मसाला, ग्रेवी, पनीर, रंग का नमूना जांच के लिए लिया जिसे जयपुर भिजवाया जायेगा। वहीं सोमवार को चिकित्सा विभाग की ओर से किए गये निरीक्षण में शहर की होटल अशोका रेस्टोरंेट से दही, हल्दी पाउडर के नमूने लेकर रेस्टोरेंट में खाद्य उत्पादों में शुद्वता के साथ हीं स्वच्छता रखने के निर्देश रेस्टोरेंट मालिक को दिये साथ हीं होटल अलास्का रिसोर्ट से पनीर, मैंदा के नमूने लेकर यहां किचन में काम कर रहे कुक व अन्य काम करने वाले कर्मचारियों के स्वास्थ्य की जांच करवाने के निर्देश दिये इसके बाद जिले में श्रीनाथ बेकर्स से केक निर्माण सामग्री के नमूने लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला जयपुर भिजवाये गये। उन्होंने बताया कि चिकित्सा विभाग द्वारा किये जा रहे निरीक्षण के दौरान खाद्य पदार्थो के साथ-साथ अन्य पदार्थो के सैंपल लिए जा रहे है और मिलावटखोरों पर अंकुश लगाने का प्रयास विभाग द्वारा किया जा रहा है जिससे कि जिलेवासियों को शुद्व खाद्य पदार्थ मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *