छात्र लक्ष्य निर्धारित करते हुए आगे बढ़े- योगी गणेशनाथ महाराज

ram

-9 बार रक्तदान करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता टीकमाराम भाटी का भी हुआ सम्मान
भीनमाल/जालोर। स्थानीय रामसीन रोड़ स्थित मेघवाल समाज छात्रावास प्रांगण में मेघवाल समाज द्वितीय प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन शिवमठ सांचौर के मठाधीश गणेशनाथ महाराज के सानिध्य में किया गया। समारोह में ललित कुमार डाभी न्यायिक मजिस्टेड राजसमंद मुख्य अतिथि के नाते मौजूद रहे। वही दरजाराम बोस पुलिस उपअधीक्षक ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। एनएसयूआई के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रोफेसर भरत कुमार मेघवाल, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक मोहनलाल मेघवाल, सीआई बाबूलाल मेघवाल, प्रधानाचार्य सवाराम वाणिका, सीआई अमृतलाल दहिया, छात्रावास समिति अध्यक्ष ओटाराम काबावत बतौर विशिष्ट अतिथि के नाते मौजूद रहे।

स्व. वरधाराम मेघवाल को मरणोपरांत समाज रत्न पुरस्कार से नवाजा

मेघवाल युवा परिषद के सचिव एवं व्याख्याता मांगीलाल मेघवाल ने कार्यक्रम का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि समारोह में 236 प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। जिसमें दसवीं, बाहरवीं, स्नातक, स्नातकोत्तर, नवचयनित राजकीय कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। वही रक्तदान के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वाले 20 व्यक्तियों को भी सम्मानित किया गया। अध्यक्ष डायालाल पंचाल ने बताया कि समाजहित के कार्यो को देखते हुए स्व. वरधाराम मेघवाल को मरणोपरांत प्रथम मेघवाल समाज रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उनके पिता जसाराम मेघवाल को दिया गया। वही खेल कूद में अंतराष्ट्रीय अवार्ड विजेता उत्तम काबावत, 9 बार रक्तदान करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता टीकमाराम भाटी, राष्ट्रीय इंस्पायर्ड विजेता सातवीं के छात्र रणजीत कुमार, छात्राओं की प्रेरणा स्त्रोत छात्राध्यापिका पुरी कुमारी लेदरमेर को भी उत्कृष्ठ कार्य हेतु प्रशस्ति पत्र और मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

अतिथियों ने कहा शिक्षा से ही समाज का विकास

इससे पूर्व डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर द्वीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का अतिथियों ने शुभारम्भ किया।शिवमठ सांचौर के गणेशनाथ महाराज ने कहा कि छात्र छात्राओं को लक्ष्य निर्धारित करते हुए आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही। प्रो. भरत मेघवाल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नही है। उन्हें तरासने की जरूरत है। ग्रार्मीण क्षेत्र की प्रतिभा आगे बढ़कर देश का नाम रोशन कर सकती है। ललित डाभी ने प्रतिभाओं को आगे बढ़कर समाज का नाम रोशन करने की बात कही।

मोहनलाल मेघवाल ने कहा कि समाज का विकास शिक्षा से ही सम्भव है। इस दौरान प्रधानाचार्य सवाराम मेघवाल ने शिक्षित बनकर संगठित रहते हुए संघर्ष करने की बात कही। उन्होंने समाज के रक्तदाताओं द्वारा किये गए सराहनीय कार्य की तारीफ करते हुए कहा कि रक्तदान से किसी को नवीन जिंदगी मिलती है। उन्होंने रक्तदान के महत्व को समझाया।

इनकी रही उपस्थिति

इस अवसर पर समग्र शिक्षा कार्यक्रम अधिकारी केवाराम पंचाल, प्रधानाध्यापक त्रिकमाराम करड़ा, घेवाराम सोलंकी, खीमाराम थौबाऊ, व्याख्याता अमराराम कालमा, अध्यापक वरदाराम भाटी, लिपिक लीलाराम बोस, अध्यापक जैसाराम भाटी, पारसाराम काबा, मांगीलाल रांगी, मोतीराम सोलंकी, खुशाल परिहार, भामाशाह दिनेश कुमार परमार, टीकमाराम भाटी, सुरेश हेंगड़े, पारसाराम भिंठोर, पारस पारंगी, कृष्ण कुमार गुर्जर, तेजराज भाटी, भरत भाटी अलबेला, सुरेश आलड़ी, कांतिलाल बोस, दलाराम काबावत, मोडाराम रोपसी, डूंगाराम काबा, भाणाराम काबा, घेवाराम चौहान, ईश्वर निम्बावास, दिनेश हेंगड़े, समेलाराम, डायालाल पंचाल, हरचंद जुंजाणी, वागाराम रुचियार, केराराम भाटी, भोलाराम बोस, व्याख्याता कालाराम दादालियान, ओखाराम, भीखाराम, घेवर पारीक, अमृत फागोतरा, डायालाल काबा, दिलीप चौहान, नोपाराम चौहान, राजु पंचाल, चम्पालाल सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *